Meteorite ने शख्स को बनाया करोड़पति, आखिर सोने से ज्यादा कीमती क्यों होते हैं उल्कापिंड?

इंडोनेशिया के में 33 साल के जोशुआ हुतागलुंग के घर पर आसमान से एक अनमोल खजाना आ गिरा और मालामाल हो गए। दरअसल, उनके घर गिरा था अंतरिक्ष से आया Meteorite जिसने उन्हें 10 करोड़ रुपये दिला दिए। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर Meteorites में ऐसा क्या होता है जो ये इतने कीमती होते हैं। यहां तक कई कुछ की कीमत सोने को भी पीछे छोड़ देती है। इस सवाल का जवाब खोजने से पहले जानते हैं कि आखिर Meteorites होते क्या हैं-क्या होते हैं Meteorite?किसी वजह से ऐस्टरॉइड के टूटने पर उनका छोटा सा टुकड़ा उनसे अलग हो जाता है जिसे उल्कापिंड यानी meteroid कहते हैं। जब ये उल्कापिंड धरती के करीब पहुंचते हैं तो वायुमंडल के संपर्क में आने के साथ ये जल उठते हैं और हमें दिखाई देती एक रोशनी जो शूटिंग स्टार यानी टूटते तारे की तरह लगती है लेकिन ये वाकई में तारे नहीं होते। जरूरी नहीं है कि हर उल्कापिंड धरती पर आते ही जल उठे। कुछ बड़े आकार के उल्कापिंड बिना जले धरती पर लैंड भी करते हैं और तब उन्हें meteorite कहा जाता है। NASA का जॉन्सन स्पेस सेंटर दुनिया के अलग-अलग कोनों में पाए गए meteorites का कलेक्शन रखता है और इन्हीं की स्टडी करके ऐस्टरॉइ़ड्स, planets और हमारे सोलर सिस्टम की परतें खोली जा जाती हैं।कौन से Meteorite होते हैं कीमती?Meteorites की कीमत ग्राम के हिसाब से होती है। इनकी कीमत $0.50 से लेकर $1000 प्रति ग्राम भी हो सकती है। कीमत में अंतर का एक बड़ा कारण होRead More…

तुर्की के S-400 को जवाब, ग्रीस ने अमेरिका से मांगे Lockheed Martin F-35 फाइटर जेट

एथेंसतुर्की के साथ जारी तनाव के बीच ग्रीस ने अमेरिका से Lockheed Martin F-35 फाइटर पर जानकारी मांगी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक ग्रीस 18-24 के बीच जेट्स की खरीदने के बारे में सोच रहा है। देश के Proto Thema अखबार के मुताबिक एक आधिकारिक पत्र अमेरिका के रक्षा मंत्रालय को ग्रीस के रक्षा मंत्रालय की ओर से 6 नवंबर को भेजा गया था। ‘जल्दी हो खरीद’अखबार ने दावा किया है कि ग्रीस ने नए या पुराने US एयरफोर्स F-35As की ‘जल्द खरीद’ की बाद कही है। इसमें कहा गया है कि F-35 जॉइंट स्ट्राइक फाइटर प्रोग्राम में शामिल होने का फैसला कई फैक्टर्स पर निर्भर करेगा, जैसे फाइटर्स की डिलिवरी, रीपेमेंट प्लान, एयरक्राफ्ट का कन्फिगेशन और 18-24 नए या पुराने या दोनों जेट्स की खरीद। खत में पहला जेट 2021 में डिलिवर करने की बात कही गई है। तुर्की के S-400 को जवाब?ग्रीस के डायरेक्टर जनरल ऑफ आर्मामेंट्स ऐंड इन्वेस्टमेंट्स थियोडोरोस लागियोस ने खत में अमेरिकी अधिकारियों से जल्द से जल्द ग्रीस आकर समझौता करने की अपील की है। माना जा रहा है कि इस्तेमाल किए गए जेट खरीदने को तैयार ग्रीस काफी जल्दी में हैं। वहीं, तुर्की ने हाल ही में S-400 एयर डिफेंस सिस्टम टेस्ट किया है।फ्रांस से लिए हैं राफेलग्रीस की यह मांग इसलिए और भी ज्यादा अहम है क्योंकि इससे पहले फ्रांस से 18 राफेल फाइटर मंगाए गए हैं। ये 2021 की शुरुआत में पहुंचेंगे और हर महीने एक फRead More…

भारत और चीन में Sputnik-V टीके का उत्पादन किया जा सकता है: व्लादिमीर पुतिन

India-China Sputnik V Coronavirus Vaccine: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दावा किया है कि कोरोना वायरस वैक्सीन का उत्पादन भारत और चीन में किया जा सकता है।  Read More…

चीन ने COVID-19 का टीका विकसित करने के लिए भारत, BRICS देशों के साथ सहयोग की पेशकश की

पेइचिंगचीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए टीके विकसित करने में मंगलवार को भारत और अन्य ब्रिक्स देशों के साथ सहयोग की पेशकश की और इस संबंध में परंपरागत चिकित्सा पर ब्रिक्स के सदस्य देशों की एक संगोष्ठी की जरूरत बताई। शी ने ब्रिक्स देशों के 12वें सम्मेलन को वीडियो लिंक से संबोधित करते हुए कहा, ‘चीनी कंपनियां टीकों के तीसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण के लिए अपने रूसी और ब्राजीली साझेदारों के साथ काम कर रही हैं। हम दक्षिण अफ्रीका और भारत के साथ भी सहयोग के लिए तैयार हैं।’ रूस के राष्ट्रवति व्लादिमीर पुतिन की मेजबानी में आयोजित डिजिटल सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो और दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति साइरियल रामाफोसा ने शिरकत की। शी ने कहा, ‘चीन COVID-19 संबंधी वैश्विक COVAX प्रणाली में शामिल हुआ है और जरूरत पड़ने पर ब्रिक्स देशों को टीके मुहैया कराने पर सक्रियता से विचार करेगा।’ विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि चीन द्वारा विकसित किये जा रहे दो टीकों समेत नौ संभावित COVID-19 टीकों को COVAX में शामिल करने पर मूल्यांकन चल रहा है। COVAX, अंतरराष्ट्रीय टीका गठजोड़-गावी, कॉलिशन फॉर एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस इनोवेशन्स (सेपी) और डब्ल्यूएचओ का संयुक्त उपक्रम है। इसका उद्देश्य टीकों का विकास और उत्पRead More…

चेहरों पर मुस्कान लाने की कोशिश: इंग्लैंड में एक माह पहले ही क्रिसमस सेलिब्रेशन; अमेरिका में शील्ड और मास्क लगाकर बैठ रहे सांता

Hindi NewsInternationalChristmas Celebrations In England A Month Ago; Santa Sitting In America With Shield And MaskAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपलंदन/ताइपेएक घंटा पहलेतस्वीर ताइवान में ताइपे स्थित मेपल लीफ टनल की है, जो क्रिसमस के मद्देनजर डेढ़ माह पहले सजा दी गई है। रविवार को यहां प्री क्रिसमस जश्न मनाया गया। इसमें ढाई हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए।क्रिसमस का सेलिब्रेशन 25 दिसंबर से एक हफ्ते पहले शुरू होता है। पर यह सेलिब्रेशन इंग्लैंड समेत दुनिया में एक माह पहले ही शुरू हो गया है। दरअसल, इंग्लैंड में 2 दिसंबर तक लॉकडाउन लागू है। गैर-आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, रेस्त्रां, पब और होटल बंद हैं। यात्रा पर भी प्रतिबंध हैं। लोगों का मानना है कि जिस तरह मरीज बढ़ रहे हैं, उस तरह फिर से लॉकडाउन लग सकता है। इसलिए इंग्लैंड के कैंब्रिजशायर के लोगों ने अपने घर सजा लिए हैं। सेलिब्रेशन कोरोना काल और लॉकडाउन में चेहरों पर मुस्कान लाने की पहल है।इंग्लैंड के कैंब्रिजशायर के लोगों ने अपने घर सजा लिए हैं।अमेरिका: शील्ड और मास्क लगाकर बैठ रहे सांताअमेरिका के मॉल्स में सांता क्लॉज शील्ड और मास्क लगाकर बैठ रहे हैं। बच्चे उनकी गोद में न बैठें इसलिए उनके सामने कांच की शील्ड लगाई गई हैं। सांता गिफ्ट देने से पहले टेंप्रेचर चेक कर रहे हैं।ताइवान: डेढ़ महीने पहले सजी मेपल लीफ टनलतस्वीर ताइवान में ताइपRead More…

चुनाव नतीजों पर सवाल: ट्रम्प ने कहा- ये इतिहास के सबसे कपट भरे चुनाव, उनके कैम्पेन ने हेराफेरी का गवाह पेश किया

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपवॉशिंगटन2 घंटे पहलेकॉपी लिंकUS प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प हाल में हुए राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया पर लगातार सवाल उठा रहे हैं।US प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प हाल में हुए राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया पर लगातार सवाल उठा रहे हैं। अमेरिकी मीडिया के मुताबिक, डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन बड़े अंतर से चुनाव जीते हैं, लेकिन ट्रम्प इस जीत को मानने से इनकार कर रहे हैं। सोमवार को उन्होंने ट्वीट कर इस बार हुए चुनाव को इतिहास का सबसे कपटपूर्ण चुनाव बताया।उधर, ट्रम्प कैम्पेन चुनाव में गड़बड़ी के अपने आरोपों को पुख्ता साबित करने के लिए एक आईटी वर्कर को गवाह के तौर पर सामने लाया है। आईटी वर्कर का दावा है उसने डेमोक्रेटिक पार्टी के समर्थकों को वोटिंग के दौरान गड़बड़ी करते देखा था। ट्रम्प के वकीलों का कहना है कि यह वर्कर जो बाइडेन की ओर से चुनाव में हुए फर्जीवाड़े की चश्मदीद है।वीडियो में गड़बड़ी का दावाडेट्राइट की IT वर्कर मेलिसा कारोन ने एक वीडियो के जरिए अपनी बात कही है। इस वीडियो में वे कह रही हैं कि TCF सेंटर के पोल वर्कर्स ने 50 वोट का एक ही बैच 8 से 10 बार काउंटर पर दिया। मेलिसा को डोमिनियन वोटिंग सिस्टम की ओर से बैलट-काउंटिंग मशीनों पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया था।उनका दावा है कि 24 घंटे की शिफ्टRead More…