भील आदिवासी समुदाय लोगों ने मनाई बिरसा मुंडा की जयंती

राजस्थान

गुडा़मालानी। भीलीस्थान टाइगर सेना गुडामालानी के बैनर तले बिरसा मुंडा की जयंती मनाई।गुडा़मालानी स्थिति आलपुरा में 145वीं जयंती पर भगवान बिरसा मुंडा,को दिपक जला कर श्रद्धांजलि दी।बिटीएस जिला प्रचार मंत्री भावेश भील पूंजाबेरी,ने बताया की भारतीय इतिहास में बिरसा मुंडा एक ऐसे आदिवासी नेता और लोकनायक थे जिन्होंने भारत के झारखंड में अपने क्रांतिकारी चिंतन से उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में आदिवासी समाज की दशा और दिशा बदलकर नवीन सामाजिक और राजनीतिक युग का सूत्रपात किया। काले कानूनों को चुनौती देकर बर्बर ब्रिटिश साम्राज्य को चुनौती ही नहीं दी बल्कि उसे सांसत में डाल दिया। उन्होंने आदिवासी लोगों को अपने मूल पारंपरिक आदिवासी धार्मिक व्यवस्था, संस्कृति एवं परम्परा को जीवंत रखने की प्रेरणा दी। आज आदिवासी समाज का जो अस्तित्व एवं अस्मिता बची हुई है तो उनमें उनका ही योगदान है। बिरसा मुंडा सही मायने में पराक्रम और सामाजिक जागरण के धरातल पर तत्कालीन युग के एकलव्य और स्वामी विवेकानंद थे।जयंती मनाते समय मौजूद रहे।बिटीएस जिला प्रवक्ता दिनेश चौहान,बिटीएस ब्लॉक अध्यक्ष शंम्भूराम भील आलपुरा,भीम आर्मी ब्लॉक अध्यक्ष भंवरा राम लोथिया,सगताराम बारासण पप्पुराम पूंजाबेरी, ओमप्रकाश राणा, सहित कई लोग मौजूद रहे।